The news is by your side.

मोमोज के लिए प्यार बना सकता है आपको बीमार

0

ख़बर सुनें

आजकल स्ट्रीट फूड का स्वाद लोगों की जुबान पर इतना चढ़ गया है कि वो इसे घर पर बने खाने के विकल्प के रूप में देखने लगे हैं। बच्चा हो या बड़ा स्ट्रीट फूड हर किसी को बेहद पसंद होता है। स्ट्रीट फूड में भी बात करें, तो मोमोज का स्वाद हर किसी को लुभा रहा है। बाजार में मिलने वाले मोमोज में कई वैरायटी जैसे वेज, नॉन वेज, स्टीम्ड, तंदूरी और फ्राइड मोमोज मिल रहे हैं। अगर आप भी जीभ का स्वाद बढ़ाने और भूख मिटाने के लिए गली के नुक्कड़ पर मिलने वाले मोमोज को बड़े चाव से खाते हैं तो वक्त रहते सतर्क हो जाएं। कहीं जीभ का ये स्वाद आपकी सेहत के लिए बड़ा खतरा ना बन जाए।     

मोमोज खाने के नुकसान

बच्चे तो बच्चे मोमोज का नाम सुनकर बड़ों के भी मुंह में पानी आ जाता है पर क्या आप जानते हैं स्वाद में ये चटपटे मोमोज आपकी सेहत के लिए एक बड़ा खतरा बन रहे हैं। शालीमार बाग के फोर्टिस हॉस्पिटल की डाइटिशियन सिमरन सैनी की माने तो ‘स्ट्रीट फूड मोमोज खाने से लोगों को बचना चाहिए।सिमरन सैनी के अनुसार मोमज खाने से कई तरह की बीमारियां आपको अपना शिकार बना सकती हैं। मोमोज मैदा से बनते हैं जो पाचन तंत्र को भी खराब कर सकता है। 

-मोमोज खाने का दूसरा बड़ा नुकसान ये होता है कि इसमें कैलोरी की मात्रा बहुत आधिक होती है लेकिन पोषक तत्व बिल्कुल गायब होते हैं। जिसकी वजह से आपको खाने से सिर्फ टेस्ट मिलता है पोषक तत्व नहीं।

-मोमोज बनाते समय साफ-सफाई का बिल्कुल ध्यान नहीं रखा जाता है। यही वजह है कि बाकी स्ट्रीट फूड की तुलना में मोमोज सबसे ज्यादा सेहत को नुकसान पहुंचाते हैं। मोमोज खुद तो सेहत के लिए हानिकारक होते ही हैं लेकिन इसके साथ खाई जाने वाली लाल तीखी चटनी और मेयोनीज भी सेहत के लिए बेहद खतरनाक होते हैं।
 
-मोमोज बनाने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले मैदे को सॉफ्ट करने के लिए उसमें ब्लीचिंग मैदे का इस्तेमाल किया जाता है। जिसकी वजह से आपकी बॉडी को नुकसान पहुंचने के साथ आपकी बॉडी का इंसुलिन लेवल भी खराब हो सकता है।मैदे में फाइबर नहीं होता, इसे सफेद तथा चमकदार बनाने के लिए बेंजोईल पेरोक्साइड से ब्लीच किया जाता है जो शरीर को बेहद नुकसान देता है। 

-मैदा का सेवन करने से व्यक्ति को डाइजेशन की प्रॉब्लम हो सकती है। इतना ही नहीं मैदा खाने से कई बार महिलाओं और बच्चों को फूड पॉइजनिंग तक हो जाती है। मोमोज में मोनोसोडियम ग्लूटामेट होता है, जो हड्डियों को कमजोर बनाता है। इससे नर्वस डिसऑर्डर तक की समस्या भी हो जाती है।मैदे में मौजूद ग्लूटन फूड एलर्जी भी को पैदा करता है।

मोमोज की स्टफिंग से भी है खतरा
वेज मोमोज की स्टफिंग के लिए पत्तागोभी का इस्तेमाल किया जाता है।ऐसा करते समय पत्तागोभी को पकाया नहीं जाता। इसकी वजह से व्यक्ति के पेट में कृमि हो सकते हैं। इसके अलावा मोमोज खाने की वजह से लोगों के पेट में इंफेक्शन भी हो सकता है।

तीखी चटनी भी है बीमारियों का घर
मोमोज का स्वाद उसके साथ मिलने वाली लाल मिर्च की चटनी और मेयोनीज के बिना अधूरा सा है; लेकिन पर क्या आप जानते हैं कि तीखी लाल मिर्च की इस चटनी को खाने से आपको पाइल्स की समस्या तक हो सकती है। बात अगर मोमोज के साथ मिलने वाली मेयोनीज की करें तो इसमें मोजूद कैलोरी की अधिक मात्रा आपका मोटापा बढ़ती है।

नोट- (यह लेख आपकी समझ और जागरूकता के लिए साझा किया गया है। अगर आप किसी बीमारी से पीड़ित हैं तो अपने डॉक्टर से सलाह अवश्य लें )

आजकल स्ट्रीट फूड का स्वाद लोगों की जुबान पर इतना चढ़ गया है कि वो इसे घर पर बने खाने के विकल्प के रूप में देखने लगे हैं। बच्चा हो या बड़ा स्ट्रीट फूड हर किसी को बेहद पसंद होता है। स्ट्रीट फूड में भी बात करें, तो मोमोज का स्वाद हर किसी को लुभा रहा है। बाजार में मिलने वाले मोमोज में कई वैरायटी जैसे वेज, नॉन वेज, स्टीम्ड, तंदूरी और फ्राइड मोमोज मिल रहे हैं। अगर आप भी जीभ का स्वाद बढ़ाने और भूख मिटाने के लिए गली के नुक्कड़ पर मिलने वाले मोमोज को बड़े चाव से खाते हैं तो वक्त रहते सतर्क हो जाएं। कहीं जीभ का ये स्वाद आपकी सेहत के लिए बड़ा खतरा ना बन जाए।     

विज्ञापन


आगे पढ़ें

मोमोज के बारे में एक्सपर्ट का ये है कहना

Loading...