The news is by your side.

डिजिटल ट्रांजेक्शन फेल होने पर कर सकेंगे यहां शिकायत, आरबीआई जल्द करेगा इसकी नियुक्ति

0

ख़बर सुनें

नोटबंदी के बाद से देश भर में कैशलेस ट्रांजेक्शन में इजाफा देखने को मिला है। सरकार और वित्त मंत्रालय के समर्थन से बैंक, मोबाइल वॉलेट कंपनियां और फिनटेक में इसका प्रयोग काफी बढ़ गया है। लेकिन इसके साथ ही कई ऐसे मामले भी सामने आ रहे हैं, जिसमें लोगों के ट्रांजेक्शन फेल हो रहे हैं। 

इन मामलों में सबसे ज्यादा शिकायतें

बैंकों और मोबाइल वॉलेट कंपनियों के पास सबसे ज्यादा शिकायतें पेमेंट न होने की, और पैसा भेजने के बाद व्यक्ति को पैसा न मिलना जबकि खाते से राशि कट जाने की आ रही हैं। यह शिकायतें कई बार बैंकों के द्वारा निष्पादित नहीं की जाती हैं, जिसका खामियाजा ग्राहक को भुगतना पड़ता है। अब भारतीय रिजर्व बैंक ने इस समस्या को देखते हुए अलग डिजिटल बैंकिंग लोकपाल को नियुक्ति करने जा रहा है।

जनवरी तक होगी नियुक्ति 

आरबीआई ने कहा है कि वो अगले साल जनवरी के अंत तक डिजिटल बैंकिंग लोकपाल को नियुक्त कर देगा। आरबीआई ने कहा है कि देश में डिजिटल बैंकिंग करने वालों की संख्या में इजाफा हो रहा है। इसके साथ ही लोगों की परेशानियां भी बढ़ रही हैं। केंद्रीय बैंक फिलहाल मौजूद बैंकिंग लोकपाल की तरह ही इस तरह की नियुक्ति करेगी, जिससे ग्राहकों की शिकायतों का आसानी से निस्तारण हो सके। 

नोटबंदी के बाद से देश भर में कैशलेस ट्रांजेक्शन में इजाफा देखने को मिला है। सरकार और वित्त मंत्रालय के समर्थन से बैंक, मोबाइल वॉलेट कंपनियां और फिनटेक में इसका प्रयोग काफी बढ़ गया है। लेकिन इसके साथ ही कई ऐसे मामले भी सामने आ रहे हैं, जिसमें लोगों के ट्रांजेक्शन फेल हो रहे हैं। 

इन मामलों में सबसे ज्यादा शिकायतें

बैंकों और मोबाइल वॉलेट कंपनियों के पास सबसे ज्यादा शिकायतें पेमेंट न होने की, और पैसा भेजने के बाद व्यक्ति को पैसा न मिलना जबकि खाते से राशि कट जाने की आ रही हैं। यह शिकायतें कई बार बैंकों के द्वारा निष्पादित नहीं की जाती हैं, जिसका खामियाजा ग्राहक को भुगतना पड़ता है। अब भारतीय रिजर्व बैंक ने इस समस्या को देखते हुए अलग डिजिटल बैंकिंग लोकपाल को नियुक्ति करने जा रहा है।

जनवरी तक होगी नियुक्ति 

आरबीआई ने कहा है कि वो अगले साल जनवरी के अंत तक डिजिटल बैंकिंग लोकपाल को नियुक्त कर देगा। आरबीआई ने कहा है कि देश में डिजिटल बैंकिंग करने वालों की संख्या में इजाफा हो रहा है। इसके साथ ही लोगों की परेशानियां भी बढ़ रही हैं। केंद्रीय बैंक फिलहाल मौजूद बैंकिंग लोकपाल की तरह ही इस तरह की नियुक्ति करेगी, जिससे ग्राहकों की शिकायतों का आसानी से निस्तारण हो सके। 

Loading...