The news is by your side.

केबल टीवी पर नहीं देख पाएंगे गणतंत्र दिवस की परेड, ट्राई का फैसला बना वजह

0

ख़बर सुनें

इस बार केबल टीवी पर 26 जनवरी को आयोजित होने वाली गणतंत्र दिवस की परेड को दर्शक नहीं देख पाएंगे। केबल ऑपरेटर्स के एक प्रमुख संगठन ने 26 जनवरी को सुबह के वक्त हड़ताल पर जाने का फैसला किया है। यह हड़ताल ट्राई द्वारा 1 फरवरी से लागू होने वाले नए नियमों के संबंध में है। 

सुबह 7 से दोपहर 12 बजे तक बंद रहेगा प्रसारण

केबल ऑपरेटर के एक प्रमुख संगठन हिंद केबल ऑपरेटर वेलफेयर फाउंडेशन ने कहा है कि ट्राई के फैसले के विरोध में पूरे देश में 26 जनवरी को सुबह 7 बजे से लेकर के दोपहर 12 बजे तक केबल टीवी का प्रसारण बंद रहेगा।

मुरादाबाद में मंगलवार को आयोजित हुई इस बैठक में फैसला लिया गया है, जिसके तहत कहा गया कि ट्राई ने केबल ऑपरेटर्स की कई मांगों को पूरा नहीं किया है। इस बारे में कई बार प्रधानमंत्री कार्यालय, सूचना प्रसारण मंत्रालय को अवगत कराया गया है, लेकिन फिर भी उन्हें राहत नहीं मिली है। 

यह हैं प्रमुख मांगे

हिंद केबल ऑपरेटर वेलफेयर फाउंडेशन के अध्यक्ष धर्मेंद्र कुमार ने कहा कि संगठन की कुछ प्रमुख मांगे हैं, जिनके ऊपर अभी तक सुनवाई नहीं हो पाई है। इन मांगों में 15 परसेंट कैपिग, लोकल केबल ऑपरेटर की शेयरिंग सही नहीं है, कुछ लोकप्रिय चैनलों के रेट आदि प्रमुख हैं। इसके अलावा नेटवर्क कैपेसिटी फीस, सेट टॉप बॉक्स पोर्टबिलिटी भी प्रमुख मुद्दा है। 

भुखमरी की कगार पर पहुंचेंगे केबल ऑपरेटर्स

स्थानीय केबल ऑपरेटर को रख रखाव के लिए बिजली बिल, इन्वर्टर, मोबाइल, पेट्रोल, एक से दो साथी हेल्पर, स्टेशनरी, लाइन बदलने का खर्च खुद करना पड़ता है। किसी भी मल्टी सिस्टम ऑपरेटर या ब्रॉडकास्टर द्वारा किसी भी प्रकार का कोई योगदान लोकल केबल ऑपरेटर को नहीं किया जाता है।

शेयर कम होने के कारण उस पर अतिरिक्त आर्थिक बोझ पड़ेगा व अपने परिवार का भरण पोषण नही कर पायेगा और न ही अपने कर्मचारियों का खर्च उठा पाएगा। इससे उनका व्यापार पूरी तरीके से समाप्त हो जाएगा और केबल ऑपरेटर भुखमरी की कगार पर आ जाएगा। ऐसी भी संभावना है कहीं कोई ऑपरेटर साथी अपनी जीवन लीला समाप्त न कर ले।  

इस बार केबल टीवी पर 26 जनवरी को आयोजित होने वाली गणतंत्र दिवस की परेड को दर्शक नहीं देख पाएंगे। केबल ऑपरेटर्स के एक प्रमुख संगठन ने 26 जनवरी को सुबह के वक्त हड़ताल पर जाने का फैसला किया है। यह हड़ताल ट्राई द्वारा 1 फरवरी से लागू होने वाले नए नियमों के संबंध में है। 

सुबह 7 से दोपहर 12 बजे तक बंद रहेगा प्रसारण

केबल ऑपरेटर के एक प्रमुख संगठन हिंद केबल ऑपरेटर वेलफेयर फाउंडेशन ने कहा है कि ट्राई के फैसले के विरोध में पूरे देश में 26 जनवरी को सुबह 7 बजे से लेकर के दोपहर 12 बजे तक केबल टीवी का प्रसारण बंद रहेगा।

मुरादाबाद में मंगलवार को आयोजित हुई इस बैठक में फैसला लिया गया है, जिसके तहत कहा गया कि ट्राई ने केबल ऑपरेटर्स की कई मांगों को पूरा नहीं किया है। इस बारे में कई बार प्रधानमंत्री कार्यालय, सूचना प्रसारण मंत्रालय को अवगत कराया गया है, लेकिन फिर भी उन्हें राहत नहीं मिली है। 

यह हैं प्रमुख मांगे

हिंद केबल ऑपरेटर वेलफेयर फाउंडेशन के अध्यक्ष धर्मेंद्र कुमार ने कहा कि संगठन की कुछ प्रमुख मांगे हैं, जिनके ऊपर अभी तक सुनवाई नहीं हो पाई है। इन मांगों में 15 परसेंट कैपिग, लोकल केबल ऑपरेटर की शेयरिंग सही नहीं है, कुछ लोकप्रिय चैनलों के रेट आदि प्रमुख हैं। इसके अलावा नेटवर्क कैपेसिटी फीस, सेट टॉप बॉक्स पोर्टबिलिटी भी प्रमुख मुद्दा है। 

भुखमरी की कगार पर पहुंचेंगे केबल ऑपरेटर्स

स्थानीय केबल ऑपरेटर को रख रखाव के लिए बिजली बिल, इन्वर्टर, मोबाइल, पेट्रोल, एक से दो साथी हेल्पर, स्टेशनरी, लाइन बदलने का खर्च खुद करना पड़ता है। किसी भी मल्टी सिस्टम ऑपरेटर या ब्रॉडकास्टर द्वारा किसी भी प्रकार का कोई योगदान लोकल केबल ऑपरेटर को नहीं किया जाता है।

शेयर कम होने के कारण उस पर अतिरिक्त आर्थिक बोझ पड़ेगा व अपने परिवार का भरण पोषण नही कर पायेगा और न ही अपने कर्मचारियों का खर्च उठा पाएगा। इससे उनका व्यापार पूरी तरीके से समाप्त हो जाएगा और केबल ऑपरेटर भुखमरी की कगार पर आ जाएगा। ऐसी भी संभावना है कहीं कोई ऑपरेटर साथी अपनी जीवन लीला समाप्त न कर ले।