The news is by your side.

सरकारी कामकाज फिर से शुरू करने के लिए अमेरिका को नहीं मिली सीनेट की मंजूरी

0

ख़बर सुनें

 अमेरिका में सरकारी कामकाज फिर से शुरू करने के लिए पेश दो प्रस्तावों को बृहस्पतिवार को सीनेट की मंजूरी नहीं मिली।

दरअसल बंद समाप्त करने को लेकर दो प्रस्ताव रखे गए थे, लेकिन दोनों ही प्रस्ताव जरूरी वोट जुटाने में नाकाम रहे। प्रस्तावों को मंजूरी नहीं मिलना एक महीने से भी ज्यादा समय से जारी सरकारी बंद को खत्म करने के प्रयासों के लिए झटका माना जा रहा है। हालांकि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने संकेत दिया अगर ऐसी कोई प्रस्ताव पेश किया जाए जिसमें सीमा सुरक्षा शामिल हो तो वह उसका समर्थन कर सकते हैं।

इस विधायी गतिरोध की वजह से हजारों संघीय कर्मचारियों को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। कर्मचारियों को दूसरे महीने भी तनख्वाह नहीं मिलने का संकट है। 

ट्रंप से जब पूछा गया कि क्या वह उस योजना का समर्थन करेंगे जिस पर सीनेट में बहुमत के नेता मिच मेकॉनेल और शीर्ष सीनेट डेमोक्रेट चक शूमर निजी रूप से चर्चा कर चुके हैं, इस पर ट्रंप ने कोई वादा नहीं करते हुए कहा कि वह अब भी दीवार बनाने के लिए धन चाहते हैं।

उन्होंने कहा कि “अगर वे एक उचित समझौता लेकर आते हैं, तो मैं उसका समर्थन करूंगा।’’ साथ ही उन्होंने कहा, ‘‘ हमें दीवार बनानी ही है।’’ 

ट्रंप ने सीनेट के उस प्रस्ताव का समर्थन किया जिसमें सरकारी कामकाज फिर शुरू करने , दीवार के लिये वित्त पोषण करने और आव्रजन नीति में कुछ बदलाव की बात कही गई थी। इस प्रस्ताव के समर्थन में 50 वोट जबकि विरोध में 47 पड़े, लेकिन इसे आगे बढ़ाने के लिए 60 की जरूरत थी, जो पूरी नहीं हो सकी।

वहीं डेमोक्रेट सांसदों द्वारा पेश किये गए प्रस्ताव को भी मंजूरी नहीं मिली जिसमें दीवार के वित्तपोषण के बिना 8 फरवरी के सरकारी कामकाज फिर से शुरू करने और सीमा सुरक्षा पर वार्ता के लिए सहमति बनाने की बात कही गई थी।

 अमेरिका में सरकारी कामकाज फिर से शुरू करने के लिए पेश दो प्रस्तावों को बृहस्पतिवार को सीनेट की मंजूरी नहीं मिली।

दरअसल बंद समाप्त करने को लेकर दो प्रस्ताव रखे गए थे, लेकिन दोनों ही प्रस्ताव जरूरी वोट जुटाने में नाकाम रहे। प्रस्तावों को मंजूरी नहीं मिलना एक महीने से भी ज्यादा समय से जारी सरकारी बंद को खत्म करने के प्रयासों के लिए झटका माना जा रहा है। हालांकि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने संकेत दिया अगर ऐसी कोई प्रस्ताव पेश किया जाए जिसमें सीमा सुरक्षा शामिल हो तो वह उसका समर्थन कर सकते हैं।

इस विधायी गतिरोध की वजह से हजारों संघीय कर्मचारियों को मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। कर्मचारियों को दूसरे महीने भी तनख्वाह नहीं मिलने का संकट है। 

ट्रंप से जब पूछा गया कि क्या वह उस योजना का समर्थन करेंगे जिस पर सीनेट में बहुमत के नेता मिच मेकॉनेल और शीर्ष सीनेट डेमोक्रेट चक शूमर निजी रूप से चर्चा कर चुके हैं, इस पर ट्रंप ने कोई वादा नहीं करते हुए कहा कि वह अब भी दीवार बनाने के लिए धन चाहते हैं।

उन्होंने कहा कि “अगर वे एक उचित समझौता लेकर आते हैं, तो मैं उसका समर्थन करूंगा।’’ साथ ही उन्होंने कहा, ‘‘ हमें दीवार बनानी ही है।’’ 

ट्रंप ने सीनेट के उस प्रस्ताव का समर्थन किया जिसमें सरकारी कामकाज फिर शुरू करने , दीवार के लिये वित्त पोषण करने और आव्रजन नीति में कुछ बदलाव की बात कही गई थी। इस प्रस्ताव के समर्थन में 50 वोट जबकि विरोध में 47 पड़े, लेकिन इसे आगे बढ़ाने के लिए 60 की जरूरत थी, जो पूरी नहीं हो सकी।

वहीं डेमोक्रेट सांसदों द्वारा पेश किये गए प्रस्ताव को भी मंजूरी नहीं मिली जिसमें दीवार के वित्तपोषण के बिना 8 फरवरी के सरकारी कामकाज फिर से शुरू करने और सीमा सुरक्षा पर वार्ता के लिए सहमति बनाने की बात कही गई थी।