The news is by your side.

अमेरिका ने वेनेजुएला की तेल कंपनी पर लगाए प्रतिबंध, मादुरो को सत्ता सौंपने का बनाया दबाव

0

ख़बर सुनें

वेनेजुएला के राष्ट्रपति निकोलस मादुरो पर विपक्ष को सत्ता सौंपने का दबाव बनाने के लिए एक अहम आर्थिक कदम उठाते हुए अमेरिका के ट्रम्प प्रशासन ने वेनेजुएला की सरकारी तेल कंपनी पीडीवीएसए पर सोमवार को प्रतिबंध लगा दिए। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन और वित्त मंत्री स्टीवन मनुचिन ने कंपनी के खिलाफ कदम उठाने की घोषणा की।

इसका लक्ष्य मादुरो के प्रतिद्वंद्वी एवं विपक्ष के नेता जुआन गुइडो को मजबूती देना भी है, जिन्हें अमेरिकी प्रशासन ने वेनेजुएला के वैध नेता के रूप में पिछले सप्ताह मान्यता दी थी। इस प्रतिबंध के तहत अमेरिकी अधिकार क्षेत्र में कंपनी की सम्पत्तियों को फ्रीज कर दिया जाएगा और कोई भी अमेरिकी इस कंपनी के साथ किसी भी प्रकार का व्यापार नहीं कर पाएगा।

मनुचिन ने कहा, ‘अमेरिका वेनेजुएला के त्रासदीपूर्ण पतन के लिए जिम्मेदार लोगों को जवाबदेह बना रहा है और वह अंतरिम राष्ट्रपति जुआन गुइडो, नेशनल असेम्बली और वेनेजुएला के लोगों को समर्थन देने के लिए राजनयिक एवं आर्थिक उपकरणों का पूरा इस्तेमाल करेगा।’ इस बीच, मादुरो ने पीडीवीएसए के खिलाफ प्रतिबंध के मद्देनजर अमेरिका को उचित जवाब देने का संकल्प लिया है।

मादुरो ने सोमवार को सरकारी टेलीविजन चैनल पर कहा, ‘मैंने पीडीवीएसए के प्रमुख को विशेष निर्देश दिए हैं कि वह अमेरिका में और अंतरराष्ट्रीय अदालतों में राजनीतिक एवं कानूनी कदम उठाए ताकि सिटगो की संपत्ति और पूंजी को सुरक्षित रखा जा सके।’

बोल्टन ने व्हाइट हाउस में संवाददाताओं से कहा, ‘हम वेनेजुएला की सेना और सुरक्षा बलों से भी अपील करते हैं कि वे सत्ता के लोकतांत्रिक, शांतिपूर्ण एवं संवैधानिक हस्तांतरण को स्वीकार करें।’ यह पूछे जाने पर कि क्या ट्रम्प वेनेजुएला के मामले में अमेरिकी सेना को संलिप्त करने पर विचार करेंगे, बोल्टन ने कहा, ‘राष्ट्रपति ने यह स्पष्ट कर दिया है कि सभी विकल्पों पर विचार किया जा रहा है।’

वेनेजुएला के राष्ट्रपति निकोलस मादुरो पर विपक्ष को सत्ता सौंपने का दबाव बनाने के लिए एक अहम आर्थिक कदम उठाते हुए अमेरिका के ट्रम्प प्रशासन ने वेनेजुएला की सरकारी तेल कंपनी पीडीवीएसए पर सोमवार को प्रतिबंध लगा दिए। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन और वित्त मंत्री स्टीवन मनुचिन ने कंपनी के खिलाफ कदम उठाने की घोषणा की।

इसका लक्ष्य मादुरो के प्रतिद्वंद्वी एवं विपक्ष के नेता जुआन गुइडो को मजबूती देना भी है, जिन्हें अमेरिकी प्रशासन ने वेनेजुएला के वैध नेता के रूप में पिछले सप्ताह मान्यता दी थी। इस प्रतिबंध के तहत अमेरिकी अधिकार क्षेत्र में कंपनी की सम्पत्तियों को फ्रीज कर दिया जाएगा और कोई भी अमेरिकी इस कंपनी के साथ किसी भी प्रकार का व्यापार नहीं कर पाएगा।

मनुचिन ने कहा, ‘अमेरिका वेनेजुएला के त्रासदीपूर्ण पतन के लिए जिम्मेदार लोगों को जवाबदेह बना रहा है और वह अंतरिम राष्ट्रपति जुआन गुइडो, नेशनल असेम्बली और वेनेजुएला के लोगों को समर्थन देने के लिए राजनयिक एवं आर्थिक उपकरणों का पूरा इस्तेमाल करेगा।’ इस बीच, मादुरो ने पीडीवीएसए के खिलाफ प्रतिबंध के मद्देनजर अमेरिका को उचित जवाब देने का संकल्प लिया है।

मादुरो ने सोमवार को सरकारी टेलीविजन चैनल पर कहा, ‘मैंने पीडीवीएसए के प्रमुख को विशेष निर्देश दिए हैं कि वह अमेरिका में और अंतरराष्ट्रीय अदालतों में राजनीतिक एवं कानूनी कदम उठाए ताकि सिटगो की संपत्ति और पूंजी को सुरक्षित रखा जा सके।’

बोल्टन ने व्हाइट हाउस में संवाददाताओं से कहा, ‘हम वेनेजुएला की सेना और सुरक्षा बलों से भी अपील करते हैं कि वे सत्ता के लोकतांत्रिक, शांतिपूर्ण एवं संवैधानिक हस्तांतरण को स्वीकार करें।’ यह पूछे जाने पर कि क्या ट्रम्प वेनेजुएला के मामले में अमेरिकी सेना को संलिप्त करने पर विचार करेंगे, बोल्टन ने कहा, ‘राष्ट्रपति ने यह स्पष्ट कर दिया है कि सभी विकल्पों पर विचार किया जा रहा है।’