The news is by your side.
Loading...

अन्ना से मिले राज ठाकरे, कहा-पाखंडियों के लिए खतरे में न डालें अपनी जान

0

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, मुंबई
Updated Tue, 05 Feb 2019 12:00 AM IST

Related Posts

ख़बर सुनें

बीते छह दिन से अनशन पर बैठे प्रसिद्ध सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे को महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) का समर्थन मिला है। सोमवार को मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे उनके गांव रालेगण सिद्धि पहुंचे और उनसे मुलाकात की। राज ठाकरे ने केंद्र की मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए अन्ना हजारे से कहा कि पाखंडियों के लिए क्यों अपनी जान दे रहे हैं। इस दौरान राज ठाकरे के साथ जल पुरुष के नाम से प्रख्यात राजेंद्र सिंह भी मौजूद रहे। 

अन्ना से मिलने के बाद ठाकरे ने कहा कि मैंने अन्ना से अनुरोध किया कि अयोग्य व पाखंडियों के लिए अपनी जान खतरे में न डाले। अन्ना के कारण मोदी सरकार सत्ता में आ पाई। उन्होंने कहा कि अन्ना को प्रधानमंत्री मोदी के किसी आश्वासन पर विश्वास नहीं करना चाहिए। राज ठाकरे ने अन्ना से अपना विरोध प्रदर्शन समाप्त करने और भाजपानीत सरकार को दफन करने के लिए उनके साथ मिलकर राज्य का दौरा करने का अनुरोध किया। 

मनसे नेता और अन्ना ने यादव बाबा मंदिर परिसर के एक बंद कमरे में 20 मिनट तक बैठक की। बैठक के बाद ठाकरे ने अन्ना के प्रदर्शन स्थल पर मौजूद सभा को संबोधित किया और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार पर देश को धोखा देने एवं अपनी ही पार्टी के चुनावी घोषणापत्र को पूरा नहीं करने का आरोप लगाया। ठाकरे ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को अन्ना के आंदोलन के कारण पूरा देश जानता है। लेकिन, अब वे सत्ता में हैं और अन्ना के स्वास्थ्य की कोई चिंता नहीं है।

महाराष्ट्र सरकार ने समाजसेवी अन्ना हजारे की लगभग सभी मांगों को स्वीकार कर लिया है। अन्ना हजारे के  छठे दिन अनशन पर बैठे रहने से सहयोगियों और विपक्षियों के निशाने पर आई महाराष्ट्र सरकार की तरफ से खुद मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने मोर्चा संभाल लिया। उन्होंने अन्ना से अनशन खत्म करने की अपील करते हुए कहा कि सरकार लगभग उनकी सभी मांगों को मानने के लिए तैयार है। इसके साथ ही उन्होंने मनसे अध्यक्ष के साथ उनकी मुलाकात पर भी निशाना साधते हुए कहा कि  जो लोग आज उनके आंदोलन को समर्थन देने की बात कर रहे हैं वह अन्ना के बारे में पहले कैसी टिप्पणी कर चुके हैं अन्ना को यह नहीं भूलना चाहिए।   

बीते छह दिन से अनशन पर बैठे प्रसिद्ध सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे को महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) का समर्थन मिला है। सोमवार को मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे उनके गांव रालेगण सिद्धि पहुंचे और उनसे मुलाकात की। राज ठाकरे ने केंद्र की मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए अन्ना हजारे से कहा कि पाखंडियों के लिए क्यों अपनी जान दे रहे हैं। इस दौरान राज ठाकरे के साथ जल पुरुष के नाम से प्रख्यात राजेंद्र सिंह भी मौजूद रहे। 

अन्ना से मिलने के बाद ठाकरे ने कहा कि मैंने अन्ना से अनुरोध किया कि अयोग्य व पाखंडियों के लिए अपनी जान खतरे में न डाले। अन्ना के कारण मोदी सरकार सत्ता में आ पाई। उन्होंने कहा कि अन्ना को प्रधानमंत्री मोदी के किसी आश्वासन पर विश्वास नहीं करना चाहिए। राज ठाकरे ने अन्ना से अपना विरोध प्रदर्शन समाप्त करने और भाजपानीत सरकार को दफन करने के लिए उनके साथ मिलकर राज्य का दौरा करने का अनुरोध किया। 

मनसे नेता और अन्ना ने यादव बाबा मंदिर परिसर के एक बंद कमरे में 20 मिनट तक बैठक की। बैठक के बाद ठाकरे ने अन्ना के प्रदर्शन स्थल पर मौजूद सभा को संबोधित किया और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार पर देश को धोखा देने एवं अपनी ही पार्टी के चुनावी घोषणापत्र को पूरा नहीं करने का आरोप लगाया। ठाकरे ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को अन्ना के आंदोलन के कारण पूरा देश जानता है। लेकिन, अब वे सत्ता में हैं और अन्ना के स्वास्थ्य की कोई चिंता नहीं है।


आगे पढ़ें

अन्ना की मांग मानने को सरकार तैयार : फडणवीस

Loading...
Comments
Loading...