The news is by your side.
Loading...

मां-बेटी ने 5 लोगों को घर बेचकर 2.50 करोड़ ठगे, न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी के पांच सितारा होटल से गिरफ्तार

0

ख़बर सुनें

मां और बेटी फर्जी कागजात बनवाकर अपना घर पांच लोगों को बेचकर 2.50 करोड़ की ठगी कर विदेश फरार हो गईं। दक्षिण-पूर्व जिला एएटीएस (एंटी ऑटो थेफ्ट स्क्वायड) ने दोनों को न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी स्थित पांच सितारा होटल सूर्या से गिरफ्तार किया है। इनकी पहचान बेटी अनुराधा कपूर (43) और मॉली कपूर (65) के रूप में हुई है।  दिल्ली की साकेत कोर्ट ने दोनों को भगोड़ा घोषित किया हुआ था। 

 दक्षिण-पूर्व जिला के अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त घनश्याम बंसल ने बताया कि 2014-15 में ग्रेटर कैलाश के अपने मकान को अनुराधा और मॉली ने फर्जी कागजात तैयार कर पांच अलग-अलग लोगों को बेच दिया था। दोनों पीड़ितों से 2.50 करोड़ रुपये लेकर फरार हो गईं। इस संबंध में दो मामले में ग्रेटर कैलाश और एक मामला डिफेंस कॉलोनी थाने में दर्ज किया गया। मामले की छानबीन के बाद साकेत कोर्ट ने दोनों को भगोड़ा घोषित कर दिया। 

इस बीच हवलदार संजय कुमार को शनिवार सूचना मिली कि दोनों भगोड़ी मां-बेटी न्यू फ्रेंड्स कालोनी स्थित पांच सितारा होटल सूर्या में रुकी हैं। सूचना के बाद पुलिस ने शाम करीब 4.00 बजे होटल में रेड कर दोनों को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ के दौरान दोनों ने अपराध कबूल कर लिया। एएटीएस ने दोनों महिलाओं की गिरफ्तारी की सूचना ग्रेटर कैलाश और डिफेंस कालोनी थाना पुलिस को दी है। अब लोकल पुलिस दोनों से पूछताछ की तैयारी कर रही है।
 

दिल्ली में पैदा होने के बाद अनुराधा ने  यहीं से स्कूल की पढ़ाई की। बाद में उसने हंसराज कॉलेज से ग्रेजुएशन किया। इसके बाद परिवार ने उसे आगे पढ़ाई के लिए लंदन यूनिवर्सिटी भेज दिया। वहां उसने एमबीए फाइनेंस में दाखिला लिया। पढ़ाई पूरी करने के बाद वह वापस भारत आईं और स्टॉक कंसलटेंट का काम शुरू कर दिया।  जल्द रुपये कमाने और बढ़िया जीवन जीने के लिए उसने अपनी मां मॉली कपूर के साथ मिलकर ठगी की योजना बनाई।

गोवा में हत्या का मामला भी है दर्ज
अनुराधा कपूर को 2015 में गोवा के पंजिम थाना क्षेत्र में एक बुकी की हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।  अनुराधा कई माह जेल में बंद रहीं। इसके बाद उसे कोर्ट ने जमानत दे दी। जेल से बाहर आने के बाद उसने दोबारा कभी कोर्ट रुख नहीं किया। मां-बेटी दोनों हाईफाई जीवन जीने की आदी हैं और पांच सितारा होटल में ही रुकते थे। दोनों अपने नए शिकार की तलाश में थे, इससे पूर्व पुलिस ने दोनों को दबोच लिया।

मां और बेटी फर्जी कागजात बनवाकर अपना घर पांच लोगों को बेचकर 2.50 करोड़ की ठगी कर विदेश फरार हो गईं। दक्षिण-पूर्व जिला एएटीएस (एंटी ऑटो थेफ्ट स्क्वायड) ने दोनों को न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी स्थित पांच सितारा होटल सूर्या से गिरफ्तार किया है। इनकी पहचान बेटी अनुराधा कपूर (43) और मॉली कपूर (65) के रूप में हुई है।  दिल्ली की साकेत कोर्ट ने दोनों को भगोड़ा घोषित किया हुआ था। 

 दक्षिण-पूर्व जिला के अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त घनश्याम बंसल ने बताया कि 2014-15 में ग्रेटर कैलाश के अपने मकान को अनुराधा और मॉली ने फर्जी कागजात तैयार कर पांच अलग-अलग लोगों को बेच दिया था। दोनों पीड़ितों से 2.50 करोड़ रुपये लेकर फरार हो गईं। इस संबंध में दो मामले में ग्रेटर कैलाश और एक मामला डिफेंस कॉलोनी थाने में दर्ज किया गया। मामले की छानबीन के बाद साकेत कोर्ट ने दोनों को भगोड़ा घोषित कर दिया। 

इस बीच हवलदार संजय कुमार को शनिवार सूचना मिली कि दोनों भगोड़ी मां-बेटी न्यू फ्रेंड्स कालोनी स्थित पांच सितारा होटल सूर्या में रुकी हैं। सूचना के बाद पुलिस ने शाम करीब 4.00 बजे होटल में रेड कर दोनों को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ के दौरान दोनों ने अपराध कबूल कर लिया। एएटीएस ने दोनों महिलाओं की गिरफ्तारी की सूचना ग्रेटर कैलाश और डिफेंस कालोनी थाना पुलिस को दी है। अब लोकल पुलिस दोनों से पूछताछ की तैयारी कर रही है।
 


आगे पढ़ें

लंदन से एमबीए (फाइनेंस) है अनुराधा

Loading...
Comments
Loading...