The news is by your side.
Loading...

मुक्केबाज विकास शनिवार को मेडिसन स्क्वायर गार्डन में खेलेंगे अपना दूसरा पेशेवर मुकाबला

0

स्पोर्ट्स डेस्क, अमर उजाला
Updated Fri, 19 Apr 2019 09:42 PM IST

Related Posts

ख़बर सुनें

भारतीय मुक्केबाज विकास कृष्ण शनिवार को यहां मेडिसन स्क्वायर गार्डन में अमेरिका के नोह किड के खिलाफ अपने दूसरे पेशेवर मुकाबले में हिस्सा लेंगे। विकास और किड के बीच सुपर वेल्टर वेट वर्ग का यह मुकाबला छह राउंड का होगा। यह टेरेंस क्राफोर्ड और ब्रिटेन के स्टार मुक्केबाज आमिर खान के बीच बहुप्रतीक्षित डब्ल्यूबीओ वेल्टरवेट खिताबी मुकाबले की अंडरकार्ड बाउट होगी।  

भिवानी के 27 साल के विकास दिग्गज प्रमोटर बाब आरुम के टॉप रैंक प्रमोशंस से जुड़े हैं और उन्होंने प्रभावी पेशेवर पदार्पण करते हुए जनवरी में अमेरिका के स्टीवन एंड्रेड को दूसरे दौर में तकनीकी नॉकआउट से हराया था। 

पदार्पण साल में 5 मुकाबलों का अनुबंध करने वाले विकास ने कहा, ‘मेडिसन स्क्वायर गार्डन दुनिया के सबसे बड़े और प्रतिष्ठित स्थलों में से एक है और मैं यहां मुकाबला करने को लेकर काफी उत्सुक हूं।’ 

उन्होंने कहा, ‘बड़े स्थल पर मुकाबला करने से आपके ऊपर से दबाव हट जाता है और यहां आने के बाद से मैं कड़ी ट्रेनिंग कर रहा हूं और मुकाबलों में हिस्सा ले रहा हूं। इन सब चीजों से मुझे बेहतर मुक्केबाज बनने में मदद मिलेगी।’ इनपुट: भाषा

भारतीय मुक्केबाज विकास कृष्ण शनिवार को यहां मेडिसन स्क्वायर गार्डन में अमेरिका के नोह किड के खिलाफ अपने दूसरे पेशेवर मुकाबले में हिस्सा लेंगे। विकास और किड के बीच सुपर वेल्टर वेट वर्ग का यह मुकाबला छह राउंड का होगा। यह टेरेंस क्राफोर्ड और ब्रिटेन के स्टार मुक्केबाज आमिर खान के बीच बहुप्रतीक्षित डब्ल्यूबीओ वेल्टरवेट खिताबी मुकाबले की अंडरकार्ड बाउट होगी।  

भिवानी के 27 साल के विकास दिग्गज प्रमोटर बाब आरुम के टॉप रैंक प्रमोशंस से जुड़े हैं और उन्होंने प्रभावी पेशेवर पदार्पण करते हुए जनवरी में अमेरिका के स्टीवन एंड्रेड को दूसरे दौर में तकनीकी नॉकआउट से हराया था। 

पदार्पण साल में 5 मुकाबलों का अनुबंध करने वाले विकास ने कहा, ‘मेडिसन स्क्वायर गार्डन दुनिया के सबसे बड़े और प्रतिष्ठित स्थलों में से एक है और मैं यहां मुकाबला करने को लेकर काफी उत्सुक हूं।’ 

उन्होंने कहा, ‘बड़े स्थल पर मुकाबला करने से आपके ऊपर से दबाव हट जाता है और यहां आने के बाद से मैं कड़ी ट्रेनिंग कर रहा हूं और मुकाबलों में हिस्सा ले रहा हूं। इन सब चीजों से मुझे बेहतर मुक्केबाज बनने में मदद मिलेगी।’ इनपुट: भाषा

Loading...
Comments
Loading...