The news is by your side.
Loading...

नसीम जैदी ने छोड़ा जेट एयरवेज का साथ, बोर्ड से दिया इस्तीफा

0

ख़बर सुनें

विमानन कंपनी जेट एयरवेज ने सोमवार को बताया कि उसके गैर-कार्यकारी और गैर-स्वतंत्र निदेशक नसीम जैदी ने व्यक्तिगत कारणों और समय की कमी का हवाला देते हुए बोर्ड से इस्तीफा दे दिया है। बता दें कि पूर्व मुख्य निर्वाचन आयुक्त और नागर विमानन विभाग के पूर्व सचिव अगस्त 2018 में जेट एयरवेज से जुड़े थे।

शेयर बाजार को दी गई सूचना में जेट एयरवेज ने बताया कि, ‘आपको सूचित किया जाता है कि कंपनी के गैर-कार्यकारी, गैर-स्वतंत्र निदेशक नसीम जैदी ने व्यक्तिगत कारणों और समय की कमी का हवला देते हुए 21 अप्रैल को पद से इस्तीफा दे दिया।’

संकट में 22 हजार कर्मचारी

चार महीने तक संकट से जूझने के बाद जेट एयरवेज की उड़ानें बुधवार को बंद हो गईं थी। जेट एयरवेज के बंद होने से करीब 22 हजार लोगों की नौकरियां प्रभावित हुई हैं। स्किल्ड से लेकर सेमी-स्किल्ड तक, आज जेट के तमाम कर्मचारी परेशान हैं। कर्मचारियों के सामने अब आजीविका की समस्या खड़ी हो गई है। जेट एयरवेज के बंद होने से प्रभावित कर्मियों ने दिल्ली के जंतर मंतर पर ‘जेट को बचाओ, हमारे परिवार को बचाओ’ के नारे भी लगाए थे। 

अंबानी उठा सकते हैं ये कदम

अब माना जा रहा है कि मुकेश अंबानी जेट एयरवेज में हिस्सेदारी खरीद सकते हैं। अगर ऐसा होता है, तो इससे जेट के 22,000 कर्मचारियों की नौकरी बच जाएगी। अंबानी जेट में हिस्सेदारी एतिहाद एयरवेज के जरिए खरीद सकते हैं। बता दें कि जेट एयरवेज में एतिहाद की 24 फीसदी हिस्सेदारी है और माना जा रहा है कि मुकेश अंबानी एतिहाद के जरिए जेट में निवेश करने का मन बना रहे हैं। निवेश के बाद जेट एयरवेज में एतिहाद की 49 फीसदी हिस्सेदारी हो जाएगी। 
विमानन कंपनी जेट एयरवेज ने सोमवार को बताया कि उसके गैर-कार्यकारी और गैर-स्वतंत्र निदेशक नसीम जैदी ने व्यक्तिगत कारणों और समय की कमी का हवाला देते हुए बोर्ड से इस्तीफा दे दिया है। बता दें कि पूर्व मुख्य निर्वाचन आयुक्त और नागर विमानन विभाग के पूर्व सचिव अगस्त 2018 में जेट एयरवेज से जुड़े थे।

शेयर बाजार को दी गई सूचना में जेट एयरवेज ने बताया कि, ‘आपको सूचित किया जाता है कि कंपनी के गैर-कार्यकारी, गैर-स्वतंत्र निदेशक नसीम जैदी ने व्यक्तिगत कारणों और समय की कमी का हवला देते हुए 21 अप्रैल को पद से इस्तीफा दे दिया।’

संकट में 22 हजार कर्मचारी

चार महीने तक संकट से जूझने के बाद जेट एयरवेज की उड़ानें बुधवार को बंद हो गईं थी। जेट एयरवेज के बंद होने से करीब 22 हजार लोगों की नौकरियां प्रभावित हुई हैं। स्किल्ड से लेकर सेमी-स्किल्ड तक, आज जेट के तमाम कर्मचारी परेशान हैं। कर्मचारियों के सामने अब आजीविका की समस्या खड़ी हो गई है। जेट एयरवेज के बंद होने से प्रभावित कर्मियों ने दिल्ली के जंतर मंतर पर ‘जेट को बचाओ, हमारे परिवार को बचाओ’ के नारे भी लगाए थे। 

अंबानी उठा सकते हैं ये कदम

अब माना जा रहा है कि मुकेश अंबानी जेट एयरवेज में हिस्सेदारी खरीद सकते हैं। अगर ऐसा होता है, तो इससे जेट के 22,000 कर्मचारियों की नौकरी बच जाएगी। अंबानी जेट में हिस्सेदारी एतिहाद एयरवेज के जरिए खरीद सकते हैं। बता दें कि जेट एयरवेज में एतिहाद की 24 फीसदी हिस्सेदारी है और माना जा रहा है कि मुकेश अंबानी एतिहाद के जरिए जेट में निवेश करने का मन बना रहे हैं। निवेश के बाद जेट एयरवेज में एतिहाद की 49 फीसदी हिस्सेदारी हो जाएगी। 

Loading...
Comments
Loading...