The news is by your side.
Loading...

एशियाई चैम्पियनशिपः पीयू चित्रा ने लहराया तिरंगा, 1500 मीटर रेस में जीता स्वर्ण पदक

0

स्पोर्ट्स डेस्क, अमर उजाला
Updated Wed, 24 Apr 2019 09:43 PM IST

Related Posts

ख़बर सुनें

पीयू चित्रा ने बुधवार को एशियाई एथलेटिक्स चैम्पियनशिप के चौथे और अंतिम दिन अपना 1500 मीटर खिताब बरकरार रखते हुए भारत को तीसरा स्वर्ण पदक दिलाया, जबकि अजय कुमार सरोज ने पुरूष 1500 मीटर में रजत और दुती चंद ने महिलाओं की 200 मीटर स्पर्धा में कांस्य पदक हासिल किया। 

चित्रा ने बहरीन की धाविका टाइगेस्ट गाशॉ को फिनिशिंग लाइन से कुछ मीटर पहले पीछे छोड़ते हुए खलीफा स्टेडियम में चार मिनट 14.56 सेकेंड से रेस जीत ली। यह भारत का चैम्पियनशिप में तीसरा स्वर्ण पदक था, इससे पहले गोमती एम (महिला 800 मीटर) और तेजिंदर पाल सिंह (पुरूष शाट पुट) ने सोमवार को दूसरे दिन पीला तमगा हासिल किया था। बहरीन की टाइगेस्ट ने 4:14.81 समय से रजत जबकि बहरीन की ही मुटिल विनफ्रेड यावी ने 4:16.18 सेकेंड से कांस्य पदक प्राप्त किया। 

23 वर्षीय चित्रा ने कहा, ‘रेस के अंत में बहरीन की धाविका के बगल में पहुंचकर थोड़ी नर्वस हो गई थी। उसने मुझे एशियाई खेलों में पछाड़कर तीसरे स्थान पर कर दिया था। अंत में मुझे सच में काफी मशक्कत करनी पड़ी।’ चित्रा ने भुवनेश्वर में 2017 चरण में 4:17.92 सेकेंड के समय से स्वर्ण पदक जीता था। वहीं, पुरूष वर्ग में सरोज ने तीन मिनट 43.18 सेकेंड से रजत पदक हासिल किया। बहरीन के अब्राहम किपचिरचिर रोटिच तीन मिनट 42.85 सेकेंड से पहले स्थान पर रहे। 

मंगलवार को 100 मीटर फाइनल में निराशाजनक पांचवें स्थान पर रही दुती ने महिला की 200 मीटर में 23.24 सेकेंड के समय से कांस्य पदक प्राप्त किया। हालांकि 23 वर्षीय दुती अब भी विश्व चैम्पियनशिप के क्वालीफाइंग मानक से चूक गयी जो 23.02 है। उनका व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 23.00 है। 

दुती ने कहा, ‘मैं बहुत खुश हूं। मैं 100 मीटर और रिले में पदक से चूक गई थी। मैंने 100 मीटर में काफी प्रयास किया, लेकिन 200 मीटर में पदक सुनिश्चित नहीं था। मैंने अपना सर्वश्रेष्ठ किया।’

वहीं, महिलाओं की चक्का फेंक में नवजीत कौर (57.47 मी) और कमलप्रीत कौर (55.59 मी) निराशाजनक प्रदर्शन से क्रमश: चौथे और पांचवें स्थान पर रहीं।

 

पीयू चित्रा ने बुधवार को एशियाई एथलेटिक्स चैम्पियनशिप के चौथे और अंतिम दिन अपना 1500 मीटर खिताब बरकरार रखते हुए भारत को तीसरा स्वर्ण पदक दिलाया, जबकि अजय कुमार सरोज ने पुरूष 1500 मीटर में रजत और दुती चंद ने महिलाओं की 200 मीटर स्पर्धा में कांस्य पदक हासिल किया। 

चित्रा ने बहरीन की धाविका टाइगेस्ट गाशॉ को फिनिशिंग लाइन से कुछ मीटर पहले पीछे छोड़ते हुए खलीफा स्टेडियम में चार मिनट 14.56 सेकेंड से रेस जीत ली। यह भारत का चैम्पियनशिप में तीसरा स्वर्ण पदक था, इससे पहले गोमती एम (महिला 800 मीटर) और तेजिंदर पाल सिंह (पुरूष शाट पुट) ने सोमवार को दूसरे दिन पीला तमगा हासिल किया था। बहरीन की टाइगेस्ट ने 4:14.81 समय से रजत जबकि बहरीन की ही मुटिल विनफ्रेड यावी ने 4:16.18 सेकेंड से कांस्य पदक प्राप्त किया। 

23 वर्षीय चित्रा ने कहा, ‘रेस के अंत में बहरीन की धाविका के बगल में पहुंचकर थोड़ी नर्वस हो गई थी। उसने मुझे एशियाई खेलों में पछाड़कर तीसरे स्थान पर कर दिया था। अंत में मुझे सच में काफी मशक्कत करनी पड़ी।’ चित्रा ने भुवनेश्वर में 2017 चरण में 4:17.92 सेकेंड के समय से स्वर्ण पदक जीता था। वहीं, पुरूष वर्ग में सरोज ने तीन मिनट 43.18 सेकेंड से रजत पदक हासिल किया। बहरीन के अब्राहम किपचिरचिर रोटिच तीन मिनट 42.85 सेकेंड से पहले स्थान पर रहे। 


आगे पढ़ें

दुती चंद ने 200 मीटर रेस में जीता कांस्य पदक

Loading...
Comments
Loading...