The news is by your side.
Loading...

चेन्नई ने दिल्ली के अरमानों पर फेरा पानी, रिकॉर्ड 8वीं बार IPL फाइनल में बनाई जगह

0

ख़बर सुनें

शेन वॉटसन (50) और फाफ डु प्लेसिस (50) की शानदार अर्धशतकीय पारियों की बदौलत चेन्नई ने दिल्ली को 6 विकेट से हराकर रिकॉर्ड आठवीं बार IPL के फाइनल में जगह बनाई है। अब 12 मई को फाइनल में चेन्नई का सामना मुंबई से होगा। दिल्ली को हराकर चेन्नई ने न सिर्फ फाइनल में पहुंची है, बल्कि IPL में 100वीं जीत भी दर्ज की है। 

टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए दिल्ली ने निर्धारित 20 ओवर में 9 विकेट के नुकसान पर 147 रन बनाए। जवाब में चेन्नई ने 6 विकेट खोकर 6 गेंदें शेष रहते ही यह मुकाबला अपने नाम कर लिया। शानदार बल्लेबाजी के लिए फाफ डु प्लेसिस को मैन ऑफ द मैच चुना गया।

लक्ष्य का पीछा करने उतरी चेन्नई को शेन वॉटसन और फाफ डु प्लेसिस की सलामी जोड़ी ने शानदार शुरुआत दिलाई। मगर 11वें ओवर की दूसरी गेंद पर टीम को पहला झटका लगा। तेज गेंदबाज ट्रेंट बोल्ट ने फाफ को कीमो पॉल के हाथों कैच आउट कराया। फाफ ने 39 गेंदों में 7 चौके और 1 छक्के की मदद से 50 रन की अर्धशतकीय पारी खेली। पहले विकेट के लिए फाफ और वॉटसन के बीच 81 रन की साझेदारी हुई।

फाफ डु प्लेसिस के आउट होने के कुछ ही देर बाद चेन्नई को शेन वॉटसन के रूप में दूसरा झटका। 12.2 ओवर में अनुभवी स्पिनर अमित मिश्रा ने वॉटसन को ट्रेंट बोल्ट के हाथों कैच आउट कराकर पवेलियन भेजा। वॉटसन ने 32 गेंदों में 3 चौके और 4 छक्के की मदद से 50 रन बनाए। इसके बाद 15.6 ओवर में अक्षर पटेल ने सुरेश रैना (11) को आउट कर चेन्नई को तीसरा झटका दिया। इसके बाद कप्तान एमएस धोनी के रूप में चेन्नई को चौथा झटका लगा। दिल्ली की तरफ से ट्रेंट बोल्ट, इशांत शर्मा, अक्षर पटेल और अमित मिश्रा ने संयुक्त रूप से 1-1 विकेट लिए।

इससे पहले ऋषभ पंत (38 रन, 25 गेंद, 2 चौके और 1 छक्के) की साहसिक पारी की बदौलत दिल्ली ने चेन्नई के सामने जीत के लिए 148 रन का लक्ष्य रखा है। पंत के अलावा दिल्ली के सारे बल्लेबाज फ्लॉप रहे। वहीं, चेन्नई की तरफ से ड्वेन ब्रावो, दीपक चाहर, रविंद्र जडेजा और हरभजन सिंह ने संयुक्त रूप से 2-2 विकेट लिए जबकि इमरान ताहिर को 1 विकेट से संतोष करना पड़ा।

पहले बल्लेबाजी करने उतरी दिल्ली ने शानदार शुरुआत तो की, लेकिन तीसरे ओवर की तीसरी गेंद पर दीपक चाहर ने सलामी बल्लेबाज पृथ्वी शॉ (5) को एलबीडब्ल्यू आउट कराकर चलता किया है। शॉ के रूप में दिल्ली को पहला झटका लगा। इसके बाद 5.2 ओवर में चेन्नई को सलामी बल्लेबाज शिखर धवन (18) के रूप में बड़ी सफलता मिली। अनुभवी गेंदबाज हरभजन सिंह ने धवन को विकेट के पीछे धोनी के हाथों कैच आउट कराकर पवेलियन भेजा।

धवन के आउट होने के बाद कॉलिन मुनरो भी ज्यादा देर तक पिच पर नहीं टिक पाए। 8.5 ओवर में रविंद्र जडेजा ने उन्हें ड्वेन ब्रावो के हाथों कैच आउट कराया। मुनरो ने 24 गेंदों में 4 चौके की मदद से 27 रन बनाए। इसके बाद दिल्ली को 11.3 ओवर में कप्तान श्रेयर अय्यर (13) के रूप में चौथा झटका लगा। अनुभवी गेंदबाज इमरान ताहिर ने उन्हें सुरेश रैना के हाथों कैच आउट कराकर चलता किया।

इसके कुछ ही देर बाद ब्रावो ने बल्लेबाजी करने आए अक्षर पटेल (3) को ताहिर के हाथों कैच आउट कराकर दिल्ली को पांचवां झटका दिया। इसी के साथ दिल्ली की आधी टीम पवेलियन लौट चुकी है।इसके बाद 16वें ओवर की पांचवीं गेंद पर हरभजन ने शेरफेन रदरफोर्ड (10) को शेन वॉटसन के हाथों कैच आउट कराकर दिल्ली को छठा झटका दिया। कीमो पॉल के रूप में दिल्ली को सांतवां झटका लगा। 17.5 ओवर में ड्वेन ब्रावो ने कीमों पॉल (3) को क्लीन बोल्ड किया।

इससे पहले चेन्नई के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने शुक्रवार को दिल्ली के खिलाफ टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया है। इस मुकाबले में चेन्नई ने अपनी टीम में एक बदलाव किया है। मुरली विजय की जगह शार्दुल ठाकुर को प्लइंग इलेवन में जगह दी है। वहीं, दिल्ली की टीम में कोई बदलाव नहीं किया गया है।

दोनों टीमें इस प्रकार हैंः

दिल्ली : 1 पृथ्वी शॉ, 2 शिखर धवन, 3 श्रेयस अय्यर (कप्तान), 4 कॉलिन मुनरो, 5 ऋषभ पंत (विकेटकीपर), 6 अक्षर पटेल, 7 शेरफेन रदरफोर्ड, 8 कीमो पॉल, 9 अमित मिश्रा, 10 ट्रेंट बोल्ट, 11 इशांत शर्मा

चेन्नई: 1 शेन वॉटसन, 2 फाफ डु प्लेसिस, 3 सुरेश रैना, 4 अंबाती रायुडू, 5 एमएस धोनी (कप्तान), 6 ड्वेन ब्रावो, 7 रवींद्र जडेजा, 8 दीपक चाहर, 9 हरभजन सिंह, 10 शार्दुल ठाकुर, 11 इमरान ताहिर

शेन वॉटसन (50) और फाफ डु प्लेसिस (50) की शानदार अर्धशतकीय पारियों की बदौलत चेन्नई ने दिल्ली को 6 विकेट से हराकर रिकॉर्ड आठवीं बार IPL के फाइनल में जगह बनाई है। अब 12 मई को फाइनल में चेन्नई का सामना मुंबई से होगा। दिल्ली को हराकर चेन्नई ने न सिर्फ फाइनल में पहुंची है, बल्कि IPL में 100वीं जीत भी दर्ज की है। 

टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए दिल्ली ने निर्धारित 20 ओवर में 9 विकेट के नुकसान पर 147 रन बनाए। जवाब में चेन्नई ने 6 विकेट खोकर 6 गेंदें शेष रहते ही यह मुकाबला अपने नाम कर लिया। शानदार बल्लेबाजी के लिए फाफ डु प्लेसिस को मैन ऑफ द मैच चुना गया।

लक्ष्य का पीछा करने उतरी चेन्नई को शेन वॉटसन और फाफ डु प्लेसिस की सलामी जोड़ी ने शानदार शुरुआत दिलाई। मगर 11वें ओवर की दूसरी गेंद पर टीम को पहला झटका लगा। तेज गेंदबाज ट्रेंट बोल्ट ने फाफ को कीमो पॉल के हाथों कैच आउट कराया। फाफ ने 39 गेंदों में 7 चौके और 1 छक्के की मदद से 50 रन की अर्धशतकीय पारी खेली। पहले विकेट के लिए फाफ और वॉटसन के बीच 81 रन की साझेदारी हुई।

फाफ डु प्लेसिस के आउट होने के कुछ ही देर बाद चेन्नई को शेन वॉटसन के रूप में दूसरा झटका। 12.2 ओवर में अनुभवी स्पिनर अमित मिश्रा ने वॉटसन को ट्रेंट बोल्ट के हाथों कैच आउट कराकर पवेलियन भेजा। वॉटसन ने 32 गेंदों में 3 चौके और 4 छक्के की मदद से 50 रन बनाए। इसके बाद 15.6 ओवर में अक्षर पटेल ने सुरेश रैना (11) को आउट कर चेन्नई को तीसरा झटका दिया। इसके बाद कप्तान एमएस धोनी के रूप में चेन्नई को चौथा झटका लगा। दिल्ली की तरफ से ट्रेंट बोल्ट, इशांत शर्मा, अक्षर पटेल और अमित मिश्रा ने संयुक्त रूप से 1-1 विकेट लिए।

इससे पहले ऋषभ पंत (38 रन, 25 गेंद, 2 चौके और 1 छक्के) की साहसिक पारी की बदौलत दिल्ली ने चेन्नई के सामने जीत के लिए 148 रन का लक्ष्य रखा है। पंत के अलावा दिल्ली के सारे बल्लेबाज फ्लॉप रहे। वहीं, चेन्नई की तरफ से ड्वेन ब्रावो, दीपक चाहर, रविंद्र जडेजा और हरभजन सिंह ने संयुक्त रूप से 2-2 विकेट लिए जबकि इमरान ताहिर को 1 विकेट से संतोष करना पड़ा।

Loading...
Comments
Loading...