The news is by your side.
Loading...

व्हाट्सऐप में लगी सेंध, फोन में अपने आप इंस्टॉल हुआ जासूसी वाला सॉफ्टवेयर, ऐसे बचें

0

बीबीसी हिन्दी, अमर उजाला
Updated Tue, 14 May 2019 10:08 AM IST

Related Posts

ख़बर सुनें

दुनिया की सबसे बड़ी सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक ने स्वीकार किया है कि उसकी इंस्टैंट मैसेजिंग ऐप व्हाट्सऐप में एक सुरक्षा चूक के चलते लोगों के मोबाइल फोन में जासूसी सॉफ्टवेयर इंस्टॉल हो गया है। ब्रिटेन के अखबार फाइनेंशियल टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक ये सॉफ्टवेयर एक इसराइली कंपनी ने विकसित किया है।

इस जासूसी सॉफ्टवेयर को व्हाट्सऐप कॉल के जरिए लोगों के फोन में इंस्टॉल किया गया है। रिपोर्ट के मुताबिक यदि कोई यूजर कॉल का जबाव नहीं देता है तब भी उसके फोन में ये सॉफ्टवेयर इंस्टॉल किया जा सकता है। कनाडा के शोधकर्ताओं के मुताबिक इस जासूसी सॉफ्टवेयर से मानवाधिकार कार्यकर्ताओं और अधिवक्ताओं को निशाना बनाया गया है।

रिपोर्ट के मुताबिक फेसबुक के इंजीनियर इस सुरक्षा चूक को ठीक करने में रविवार तक जुटे थे। फेसबुक ने ग्राहकों से कहा है कि वो नए वर्जन को अपडेट कर लें अभी ये पता नहीं है कि कितने लोगों को इस साइबर हमले का निशाना बनाया गया है। हालांकि माना जा रहा है कि इस हमले में बेहद चुनिंदा लोगों को ही निशाना बनाया गया है। दुनियाभर में डेढ़ सौ करोड़ से अधिक लोग व्हाट्सऐप इस्तेमाल करते हैं।

दुनिया की सबसे बड़ी सोशल मीडिया कंपनी फेसबुक ने स्वीकार किया है कि उसकी इंस्टैंट मैसेजिंग ऐप व्हाट्सऐप में एक सुरक्षा चूक के चलते लोगों के मोबाइल फोन में जासूसी सॉफ्टवेयर इंस्टॉल हो गया है। ब्रिटेन के अखबार फाइनेंशियल टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक ये सॉफ्टवेयर एक इसराइली कंपनी ने विकसित किया है।

इस जासूसी सॉफ्टवेयर को व्हाट्सऐप कॉल के जरिए लोगों के फोन में इंस्टॉल किया गया है। रिपोर्ट के मुताबिक यदि कोई यूजर कॉल का जबाव नहीं देता है तब भी उसके फोन में ये सॉफ्टवेयर इंस्टॉल किया जा सकता है। कनाडा के शोधकर्ताओं के मुताबिक इस जासूसी सॉफ्टवेयर से मानवाधिकार कार्यकर्ताओं और अधिवक्ताओं को निशाना बनाया गया है।

रिपोर्ट के मुताबिक फेसबुक के इंजीनियर इस सुरक्षा चूक को ठीक करने में रविवार तक जुटे थे। फेसबुक ने ग्राहकों से कहा है कि वो नए वर्जन को अपडेट कर लें अभी ये पता नहीं है कि कितने लोगों को इस साइबर हमले का निशाना बनाया गया है। हालांकि माना जा रहा है कि इस हमले में बेहद चुनिंदा लोगों को ही निशाना बनाया गया है। दुनियाभर में डेढ़ सौ करोड़ से अधिक लोग व्हाट्सऐप इस्तेमाल करते हैं।

Loading...
Comments
Loading...