The news is by your side.
Loading...

राष्ट्रपति अवार्ड से सम्मानित अध्यापक पर बूथ कैप्चर कराने का मामला दर्ज

0
राष्ट्रपति अवार्ड से सम्मानित अध्यापक बसरूदीन के खिलाफ फर्जी वोट डलवाने का मामला दर्ज किया गया है।  इससे लोगों में काफी रोष है। इस मामले की उच्च स्तरीय जांच कराने की मांग को लेकर गांव टूंडलाका में प्रमुख लोगों की एक पंचायत हुई, जिसमें एसपी मेवात से मामले की निष्पक्ष जांच की मांग की गई है।

क्या है मामला

सेक्टर मजिस्ट्रेट कुसमेंद्र कुमार ने पुन्हाना पुलिस को दी शिकायत में आरोप लगाया कि रविवार को पुन्हाना विधानसभा के गांव टूंडलाका के बूथ नंबर 130 पर दरवाजा बंद करके पीठासीन अधिकारी बसरूद्दीन आरिफ पुत्र तैयब के साथ मिलकर फर्जी वोट डलवाने की कोशिश कर रहे थे।  इस दौरान युवक को जब पकड़ा गया तो उसके पास से सरीफ, फखरू,  हुसैन, जावेद, आजम खां, जाहिद हुसैन, आरिफ नाम के लोगों की पर्चियां मिलीं। पुन्हना के डीएसपी ने बताया कि आरोपी आरिफ को गिरफ्तार कर उसे अदालत में पेश किया गया जहां से उसे जमानत पर छोड़ दिया गया। उन्होंने बताया कि मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है, मामले की जांच चल रही है और सबूत जुटाए जा रहे हैं।

क्या कहते हैं पार्टियों के पोलिंग एजेंट

भाजपा के पोलिंग एजेंट अरशद सरपंच, जुबेर, कांग्रेस के एजेंट पप्पू उर्फ समून, अनीस और इनेलो के पोलिंग एजेंट इस्लाम ने बताया कि रविवार को करीब दोपहर 2 बजे जिले की एसपी संगीता कालिया भारी पुलिस बल के साथ गांव टूंडलाका के बूथ नंबर 130 पर पहुंचीं। अचानक एक लड़का जो पोलिंग रूम के बहार खड़ा था उसे पुलिस ने दबोच लिया, जिसके पास उसके ही परिवार के लोगों के वोटों की पर्चियां थीं। जो अपने परिवार के लोगों का इंतजार कर रहा था। उन्होंने बताया कि पोलिंग बूथ के अंदर कोई भी नहीं गया यहां तक की एसपी और सेक्टर मजिस्ट्रेट भी नहीं गये।  

एसपी ने पीठासीन अधिकारी बसरूदीन को बुलाया। इनलोगों ने आरोप लगाया कि उससे तथा किसी पोलिंग एजेंट से जानकारी लिए बगैर ही एसपी ने बसरूदीन और पकड़े गए लड़के के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने का आदेश जारी कर दिया। जो सरासर गलत है। जब किसी भी पार्टी के पोलिंग एजेंट को कोई ऐतराज नहीं था तो फर्जी वोटिंग का मामला कहां से आ गया।

क्या कहता है आरोपी अध्यापक

अध्यापक बसरूदीन का कहना है कि जो मामला उसके खिलाफ दर्ज किया गया है, इससे वे हैरान हैं। उन्हें तो कुछ पता ही नहीं था बल्कि एसपी ने उन्हें बूथ से बाहर बुलाया और बिना कुछ पूछे ही मुकदमा दर्ज करने के आदेश जारी कर दिए। बसरूदीन का कहना है कि अगर वह दोषी है तो सजा भुगतने के लिए तैयार है। इस मामले की गहराई से जांच होनी चाहिए।

टूण्डलाका गांव में प्रमुख लोगों की हुई पंचायत

राष्ट्रपति अवार्ड से सम्मानित अध्यापक बसरूदीन के खिलाफ फर्जी वोट डलवाने को लेकर दर्ज हुए मामले में रविवार शाम और सोमवार सुबह गांव टूडंलाका के प्रमुख लोगों की एक बैठक हुई। इसमें सभी पार्टी और जाति के लोगों ने आपत्ति जताते हुए इसे झूठा करार दिया। उनका कहना है कि गांव में कुल 703 मतदान हुआ है। सभी मतदाता और पोलिंग एजेंट बसरूदीन के हक में हलफनामा देने को तैयार हैं। 

वहीं एसपी को बूथ कैप्चरिंग की झूठी शिकायत करने वाले व्यक्ति के खिलाफ मुकदमा दर्ज करना चाहिये। पकड़े गये युवक से गांव वालों का कोई लेना देना नहीं है। पंचायत के लोगों का कहना है कि पंचायत का एक प्रतिनिधिमंडल जल्द एसपी से इस मामले में हस्तक्षेप करने की मांग करने के लिए मिलेगा।
गांव में आयोजित पंचायत में ममन दीन, आस मोहम्मद, हाकम, अकबर, अफजल, अरशद सरपंच, रफीक, हारून, अमीन, सेकुल एडवोकेट, साहून खान, तैय्यब खान, जफरु, फकीरा, आजाद, रति खान सहित सभी गांव कर प्रमुख लोग मौजूद थे।

Loading...
Comments
Loading...