The news is by your side.
Loading...

गुजरात : सुपारी देकर पिता की हत्या कराने वाला बेटा गिरफ्तार

0

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, सूरत
Updated Sun, 19 May 2019 12:57 AM IST

ख़बर सुनें

Related Posts
गुजरात पुलिस ने सूरत के एक कारोबारी की हत्या के सिलसिले में उसके बेटे को गिरफ्तार किया है। क्राइम ब्रांच का कहना है कि जीतेश पटेल ने अपने पिता प्रह्लाद पटेल (70) की हत्या कराने के लिए 10 लाख रुपये की सुपारी दी थी। हत्या का यह मामला 14 मई का है। 

सूरत क्राइम ब्रांच के मुताबिक, जीतेश अपने पिता की दोनों फैक्टरियां हड़पना चाहता था। इसको लेकर पिता और बेटे में पिछले आठ महीने से अनबन चल रही थी। मामला हल न होता देख जीतेश ने पिता को अपने रास्ते से हटाकर उनकी दोनों फैक्टरियों को हड़पने की योजना बनाई। इसके लिए उसने एक मिल वर्कर सलीम शेख से संपर्क किया और अपने पिता की हत्या करने के लिए उसके सामने 10 लाख रुपये का प्रस्ताव रखा। 

सलीम इस काम के लिए तैयार हो गया और उसने संजय तुकाराम रामराज्य को भी इसके लिए राजी कर लिया। इसके बाद जीतेश, सलीम और संजय कारोबारी डील के बहाने प्रह्लाद के फैक्टरी गए हत्या करने के बाद शव को फैक्टरी में ही दफना दिया। किसी को शक न हो इसलिए अगले दिन 15 मई को जीतेश ने अपने पिता के लापता होने की पंडेसरा पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज करा दी। 

जांच के दौरान क्राइम ब्रांच को एक सीसीटीवी फुटेज हाथ लगा, जिससे इस हत्याकांड की गुत्थी सुलझ सकी। संजय ने पुलिस पूछताछ में जीतेश और सलीम के भी इस हत्या में शामिल होने की बात कबूल कर ली। जिसके बाद तीनों को गिरफ्तार कर लिया गया। 

गुजरात पुलिस ने सूरत के एक कारोबारी की हत्या के सिलसिले में उसके बेटे को गिरफ्तार किया है। क्राइम ब्रांच का कहना है कि जीतेश पटेल ने अपने पिता प्रह्लाद पटेल (70) की हत्या कराने के लिए 10 लाख रुपये की सुपारी दी थी। हत्या का यह मामला 14 मई का है। 

सूरत क्राइम ब्रांच के मुताबिक, जीतेश अपने पिता की दोनों फैक्टरियां हड़पना चाहता था। इसको लेकर पिता और बेटे में पिछले आठ महीने से अनबन चल रही थी। मामला हल न होता देख जीतेश ने पिता को अपने रास्ते से हटाकर उनकी दोनों फैक्टरियों को हड़पने की योजना बनाई। इसके लिए उसने एक मिल वर्कर सलीम शेख से संपर्क किया और अपने पिता की हत्या करने के लिए उसके सामने 10 लाख रुपये का प्रस्ताव रखा। 

सलीम इस काम के लिए तैयार हो गया और उसने संजय तुकाराम रामराज्य को भी इसके लिए राजी कर लिया। इसके बाद जीतेश, सलीम और संजय कारोबारी डील के बहाने प्रह्लाद के फैक्टरी गए हत्या करने के बाद शव को फैक्टरी में ही दफना दिया। किसी को शक न हो इसलिए अगले दिन 15 मई को जीतेश ने अपने पिता के लापता होने की पंडेसरा पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज करा दी। 

जांच के दौरान क्राइम ब्रांच को एक सीसीटीवी फुटेज हाथ लगा, जिससे इस हत्याकांड की गुत्थी सुलझ सकी। संजय ने पुलिस पूछताछ में जीतेश और सलीम के भी इस हत्या में शामिल होने की बात कबूल कर ली। जिसके बाद तीनों को गिरफ्तार कर लिया गया। 

Loading...
Comments
Loading...