The news is by your side.
Loading...

संघ प्रमुख मोहन भागवत से आज मुलाकात कर सकते हैं पीएम मोदी

0

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Updated Mon, 20 May 2019 12:58 AM IST

मोहन भागवत, नरेंद्र मोदी (फाइल फोटो)
– फोटो : सोशल मीडिया

Related Posts

ख़बर सुनें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत से मुलाकात कर सकते हैं। सूत्रों का कहना है कि पीएम मोदी नागपुर स्थित संघ मुख्यालय पहुंचेंगे जहां वह विभिन्न मुद्दों पर उनसे चर्चा करेंगे। लोकसभा चुनाव के 23 मई को आने वाले नतीजों से पहले हो रही इस मुलाकात को काफी अहम माना जा रहा है। 

मोदी का पिछले चार साल में यह पहला संघ मुख्यालय का दौरा होगा। ऐसी अटकलें लगाई जा रही हैं कि एनडीए के पूर्ण बहुमत हासिल नहीं करने की स्थिति में संघ पीएम पद के लिए मोदी की जगह किसी दूसरे नेता का नाम प्रस्तावित कर सकता है। ऐसे में मोदी की भागवत से इस मुलाकात को उनका आशीर्वाद और पीएम पद के लिए समर्थन हासिल करने के तौर पर देखा जा रहा है। पिछले कुछ सालों के दौरान मोदी ने संघ मुख्यालय से दूरी बनाए रखी और नागपुर दौरे से बचते रहे हैं।  

भाजपा की नागपुर इकाई के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि उम्मीद है कि पार्टी पूर्ण बहुमत के साथ सत्ता में वापसी करेगी लेकिन एक आशंका यह भी जताई जा रही है कि बहुमत नहीं मिलने की परिस्थिति में संघ मोदी को साइडलाइन कर सकता है। आखिर भाजपा की बागडोर अप्रत्यक्ष रूप से संघ के हाथों में ही है। दोनों नेताओं की मुलाकात के दौरान सरकार समेत कई मुद्दों पर चर्चा होने की उम्मीद है। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सोमवार को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत से मुलाकात कर सकते हैं। सूत्रों का कहना है कि पीएम मोदी नागपुर स्थित संघ मुख्यालय पहुंचेंगे जहां वह विभिन्न मुद्दों पर उनसे चर्चा करेंगे। लोकसभा चुनाव के 23 मई को आने वाले नतीजों से पहले हो रही इस मुलाकात को काफी अहम माना जा रहा है। 

मोदी का पिछले चार साल में यह पहला संघ मुख्यालय का दौरा होगा। ऐसी अटकलें लगाई जा रही हैं कि एनडीए के पूर्ण बहुमत हासिल नहीं करने की स्थिति में संघ पीएम पद के लिए मोदी की जगह किसी दूसरे नेता का नाम प्रस्तावित कर सकता है। ऐसे में मोदी की भागवत से इस मुलाकात को उनका आशीर्वाद और पीएम पद के लिए समर्थन हासिल करने के तौर पर देखा जा रहा है। पिछले कुछ सालों के दौरान मोदी ने संघ मुख्यालय से दूरी बनाए रखी और नागपुर दौरे से बचते रहे हैं।  

भाजपा की नागपुर इकाई के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि उम्मीद है कि पार्टी पूर्ण बहुमत के साथ सत्ता में वापसी करेगी लेकिन एक आशंका यह भी जताई जा रही है कि बहुमत नहीं मिलने की परिस्थिति में संघ मोदी को साइडलाइन कर सकता है। आखिर भाजपा की बागडोर अप्रत्यक्ष रूप से संघ के हाथों में ही है। दोनों नेताओं की मुलाकात के दौरान सरकार समेत कई मुद्दों पर चर्चा होने की उम्मीद है। 

Loading...
Comments
Loading...