The news is by your side.
Loading...

महाराष्ट्र के एक ही परिवार के छह लोग ओमान की बाढ़ में बहे

0

ख़बर सुनें

Related Posts
महाराष्ट्र के बीड जिले के रहने वाले एक ही परिवार के छह लोग ओमान में आई बाढ़ में बह गए हैं। मुंबई पुलिस ने मामले की जानकारी देते हुए सोमवार को बताया कि ये परिवार ओमान गया था। घटना शनिवार की बताई जा रही है।

बीड के मजलगांव से सेवानिवृत अध्यापक खैरुल्ला खान अपने परिवार के साथ ओमान के बानी खालिद गए थे। ये यहां का एक मुख्य पर्यटन स्थल माना जाता है। जो कि राजधानी मस्कट से महज 126 किमी की दूरी पर है।

मजलगांव पुलिस स्टेशन के इंस्पेक्टर एसए सईद ने बताया, “खान के साथ उनकी पत्नी, उनकी बहू अर्शी और तीन पोते-पोती और साथ में एक 28 साल का व्यक्ति था। ये सभी खान के बड़े बेटे सरदार फजल अहमद के पास गए थे, जो दो साल से यहां फार्मासिस्ट के तौर पर काम कर रहे हैं।”

उन्होंने बताया कि पूरा परिवार सरदार की गाड़ी से वाडी बानी खालिद घूमने गए थे। “जब वो उस स्थान पर पहुंचे तो वहां भारी बारिश के साथ-साथ अचानक तूफान आ गया। तेज बारिश और धुंध के कारण गाड़ी आगे नहीं बढ़ पा रही थी। परिवार ने बाहर निकलने के लिए गाड़ी का दरवाजा खोला। लेकिन जैसे ही दरवाजा खोला गया, तो सरदार की चार साल बेटी सिदरा नीचे पानी में गिर गई।”

सईद ने बताया, “वो बच्ची को बचाने के लिए पानी में कूदे लेकिन पानी के तेज बहाव से पूरा परिवार बह गया। थोड़ी देर बाद सभी गायब हो गए।” उन्होंने बताया कि सरदार ताड़ के पेड़ की शाखा को पकड़कर बच गया। सरदार ने ओमान में मीडिया से बात करते हुए कहा, “शुरू में हमें लगा कि वो धूप वाला दिन है। तभी हम वाडी गए, मैंने देखा की लोग जल्दी में वहां से जा रहे हैं। जब तक हमें मामले का पता चलता, तेज बारिश शुरू हो गई थी।”

महाराष्ट्र के बीड जिले के रहने वाले एक ही परिवार के छह लोग ओमान में आई बाढ़ में बह गए हैं। मुंबई पुलिस ने मामले की जानकारी देते हुए सोमवार को बताया कि ये परिवार ओमान गया था। घटना शनिवार की बताई जा रही है।

बीड के मजलगांव से सेवानिवृत अध्यापक खैरुल्ला खान अपने परिवार के साथ ओमान के बानी खालिद गए थे। ये यहां का एक मुख्य पर्यटन स्थल माना जाता है। जो कि राजधानी मस्कट से महज 126 किमी की दूरी पर है।

मजलगांव पुलिस स्टेशन के इंस्पेक्टर एसए सईद ने बताया, “खान के साथ उनकी पत्नी, उनकी बहू अर्शी और तीन पोते-पोती और साथ में एक 28 साल का व्यक्ति था। ये सभी खान के बड़े बेटे सरदार फजल अहमद के पास गए थे, जो दो साल से यहां फार्मासिस्ट के तौर पर काम कर रहे हैं।”

उन्होंने बताया कि पूरा परिवार सरदार की गाड़ी से वाडी बानी खालिद घूमने गए थे। “जब वो उस स्थान पर पहुंचे तो वहां भारी बारिश के साथ-साथ अचानक तूफान आ गया। तेज बारिश और धुंध के कारण गाड़ी आगे नहीं बढ़ पा रही थी। परिवार ने बाहर निकलने के लिए गाड़ी का दरवाजा खोला। लेकिन जैसे ही दरवाजा खोला गया, तो सरदार की चार साल बेटी सिदरा नीचे पानी में गिर गई।”

सईद ने बताया, “वो बच्ची को बचाने के लिए पानी में कूदे लेकिन पानी के तेज बहाव से पूरा परिवार बह गया। थोड़ी देर बाद सभी गायब हो गए।” उन्होंने बताया कि सरदार ताड़ के पेड़ की शाखा को पकड़कर बच गया। सरदार ने ओमान में मीडिया से बात करते हुए कहा, “शुरू में हमें लगा कि वो धूप वाला दिन है। तभी हम वाडी गए, मैंने देखा की लोग जल्दी में वहां से जा रहे हैं। जब तक हमें मामले का पता चलता, तेज बारिश शुरू हो गई थी।”

Loading...
Comments
Loading...