The news is by your side.

'पोम्पियो ने खशोगी की गुमशुदगी से संबंधित ना तो कोई टेप सुनी और ना ही ट्रांसक्रिप्ट पढ़ी'

0

ख़बर सुनें

अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने सऊदी अरब के पत्रकार जमाल खशोगी की गुमशुदगी से संबंधित ना तो कोई टेप सुनी है और ना ही कोई ट्रांसक्रिप्ट पढ़ी है। पोम्पियो के प्रवक्ता ने यह बात कही। उनकी तरफ से यह बयान तब आया है जब एबीसी न्यूज ने दावा किया कि पोम्पियो ने अंकारा में तुर्की के अधिकारियों के साथ बैठक के दौरान कथित ऑडियो रिकॉर्डिंग सुनी।

बता दें कि इस महीने की शुरुआत में इस्तांबुल में सऊदी अरब के वाणिज्य दूतावास में प्रवेश करने के बाद से 60 वर्षीय खशोगी लापता हैं। ऐसी आशंका है कि दूतावास के अंदर ही उनकी हत्या कर दी गई। इस घटना को लेकर दुनिया भर में आक्रोश है। खशोगी अमेरिकी नागरिक था और ‘द वाशिंगटन पोस्ट’ में काम कर रहा था।

विदेश विभाग की प्रवक्ता हीथर नोर्ट ने कहा, ‘विदेश मंत्री पोम्पियो ने जमाल खशोगी की गुमशुदगी ना तो कोई टेप सुनी और ना ही कोई ट्रांसक्रिप्ट देखी।’

पोम्पियो बुधवार रात को सऊदी अरब और तुर्की की अपनी यात्रा से लौट आए और उन्होंने गुरुवार को राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात की। ट्रंप ने कहा कि ऐसा लग रहा है कि खशोगी की मौत हो गई और उन्होंने चेतावनी दी कि अगर इसके पीछे सऊदी अरब जिम्मेदार है तो उसे ‘बहुत गंभीर’ परिणाम भुगतने पड़ेंगे।

एबीसी न्यूज के अनुसार, पोम्पियो ने भी कथित ऑडियो की ट्रांसक्रिप्ट देखी। इससे एक दिन पहले पोम्पियो ने इस मुद्दे पर सवालों का जवाब देने से इनकार कर दिया। उन्होंने एक दिन पहले पत्रकारों से कहा, ‘मेरे पास इसके बारे में कहने के लिए कुछ नहीं है।’ 

अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने सऊदी अरब के पत्रकार जमाल खशोगी की गुमशुदगी से संबंधित ना तो कोई टेप सुनी है और ना ही कोई ट्रांसक्रिप्ट पढ़ी है। पोम्पियो के प्रवक्ता ने यह बात कही। उनकी तरफ से यह बयान तब आया है जब एबीसी न्यूज ने दावा किया कि पोम्पियो ने अंकारा में तुर्की के अधिकारियों के साथ बैठक के दौरान कथित ऑडियो रिकॉर्डिंग सुनी।

बता दें कि इस महीने की शुरुआत में इस्तांबुल में सऊदी अरब के वाणिज्य दूतावास में प्रवेश करने के बाद से 60 वर्षीय खशोगी लापता हैं। ऐसी आशंका है कि दूतावास के अंदर ही उनकी हत्या कर दी गई। इस घटना को लेकर दुनिया भर में आक्रोश है। खशोगी अमेरिकी नागरिक था और ‘द वाशिंगटन पोस्ट’ में काम कर रहा था।

विदेश विभाग की प्रवक्ता हीथर नोर्ट ने कहा, ‘विदेश मंत्री पोम्पियो ने जमाल खशोगी की गुमशुदगी ना तो कोई टेप सुनी और ना ही कोई ट्रांसक्रिप्ट देखी।’

पोम्पियो बुधवार रात को सऊदी अरब और तुर्की की अपनी यात्रा से लौट आए और उन्होंने गुरुवार को राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात की। ट्रंप ने कहा कि ऐसा लग रहा है कि खशोगी की मौत हो गई और उन्होंने चेतावनी दी कि अगर इसके पीछे सऊदी अरब जिम्मेदार है तो उसे ‘बहुत गंभीर’ परिणाम भुगतने पड़ेंगे।

एबीसी न्यूज के अनुसार, पोम्पियो ने भी कथित ऑडियो की ट्रांसक्रिप्ट देखी। इससे एक दिन पहले पोम्पियो ने इस मुद्दे पर सवालों का जवाब देने से इनकार कर दिया। उन्होंने एक दिन पहले पत्रकारों से कहा, ‘मेरे पास इसके बारे में कहने के लिए कुछ नहीं है।’ 

Loading...
Comments