The news is by your side.

तांत्रिक की संदिग्धावस्था में मौत

0

ख़बर सुनें

जुनावई/चंदौसी। गुन्नौर कोतवाली क्षेत्र के नंदरौली गांव के एक तांत्रिक की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। पुलिस ने उसके शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर ही आगे की कार्रवाई की जाएगी। हालांकि परिजनों ने किसी के खिलाफ तहरीर नहीं दी है। 
नंदरौली गांव निवासी सतीश यादव (35) कई सालों से तंत्र मंत्र का कार्य करता है। विशेष पूजा अर्चना आदि करता रहता है। गुरुवार की रात उसे उदयभानपुर गांव में कल्याण सिंह के यहां नवरात्र के अंतिम दिन देवी की जोत जगाने के लिए बुलाया गया था। जिस पर विशेष पूजा आयोजित की जानी थी। सतीश यादव अपने शिष्य हरी बाबा के साथ रात नौ बजे उदयभानपुर गांव पहुंचा, अभी वह जोत जलाने की तैयारी कर ही रहा था कि उसकी तबियत बिगड़ गई। उसे फिर उसके गांव नंदरौली लाया गया। दवाई लेने के बाद कुछ सुधार हुआ तो फिर करीब साढ़े दस बजे पहुंच गया, लेकिन फिर जोत जलाने से पहले उसकी पहले से अधिक तबियत खराब हो गई। उसे गुन्नौर व बबराला के चिकित्सालयों में ले जाया गया लेकिन डाक्टरों ने उसकी हालत गंभीर बताते हुए उपचार करने से ही मना कर दिया। हायर सेंटर ले जाने की सलाह दी। परिजन उसे सैंजना मुस्लिम गांव में भी ले गए, वहां भी उसका उपचार नहीं हो सका। रास्ते में ही उसकी मौत हो गई। कोतवाली प्रभारी अता मोहम्मद ने बताया कि संभवत: उसे उपचार समय से नहीं मिल पाया। इस कारण उसकी मौत हो गई। फिलहाल पिता के कहने पर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है, आगे की कार्रवाई पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही की जाएगी। 

जुनावई/चंदौसी। गुन्नौर कोतवाली क्षेत्र के नंदरौली गांव के एक तांत्रिक की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। पुलिस ने उसके शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर ही आगे की कार्रवाई की जाएगी। हालांकि परिजनों ने किसी के खिलाफ तहरीर नहीं दी है। 

नंदरौली गांव निवासी सतीश यादव (35) कई सालों से तंत्र मंत्र का कार्य करता है। विशेष पूजा अर्चना आदि करता रहता है। गुरुवार की रात उसे उदयभानपुर गांव में कल्याण सिंह के यहां नवरात्र के अंतिम दिन देवी की जोत जगाने के लिए बुलाया गया था। जिस पर विशेष पूजा आयोजित की जानी थी। सतीश यादव अपने शिष्य हरी बाबा के साथ रात नौ बजे उदयभानपुर गांव पहुंचा, अभी वह जोत जलाने की तैयारी कर ही रहा था कि उसकी तबियत बिगड़ गई। उसे फिर उसके गांव नंदरौली लाया गया। दवाई लेने के बाद कुछ सुधार हुआ तो फिर करीब साढ़े दस बजे पहुंच गया, लेकिन फिर जोत जलाने से पहले उसकी पहले से अधिक तबियत खराब हो गई। उसे गुन्नौर व बबराला के चिकित्सालयों में ले जाया गया लेकिन डाक्टरों ने उसकी हालत गंभीर बताते हुए उपचार करने से ही मना कर दिया। हायर सेंटर ले जाने की सलाह दी। परिजन उसे सैंजना मुस्लिम गांव में भी ले गए, वहां भी उसका उपचार नहीं हो सका। रास्ते में ही उसकी मौत हो गई। कोतवाली प्रभारी अता मोहम्मद ने बताया कि संभवत: उसे उपचार समय से नहीं मिल पाया। इस कारण उसकी मौत हो गई। फिलहाल पिता के कहने पर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है, आगे की कार्रवाई पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही की जाएगी। 

Loading...
Comments