The news is by your side.

अमृतसर ट्रेन हादसा: सिद्धू की पत्नी की मुश्किलें बढ़ी, बिहार कोर्ट में मामला दर्ज 

0

ख़बर सुनें

अमृतसर ट्रेन हादसे में आरोप प्रत्यारोप के बीच सोमवार को बिहार की एक अदालत में पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर सिद्धू के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई गई है। वहीं, राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) ने हादसे पर रेलवे और पंजाब सरकार को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है।

बिहार के मुजफ्फरपुर की सीजेएम कोर्ट में सामाजिक कार्यकर्ता तमन्ना हाशमी की ओर से दर्ज शिकायत में हादसे के लिए नवजोत कौर और दशहरा कार्यक्रम के आयोजकों को जिम्मेदार ठहराया गया है। हाशमी ने अदालत से नवजोत कौर और आयोजकों पर केस दर्ज करने की अपील की है। कोर्ट तीन नवंबर को शिकायत पर सुनवाई करेगा। इस दर्दनाक हादसे में बिहार के कई लोग मारे गए थे। 

इस बीच, एनएचआरसी ने स्वत: संज्ञान लेते हुए पंजाब के मुख्य सचिव और रेलवे बोर्ड के चेयरमैन को नोटिस जारी कर तलब किया है। एनएचआरसी ने जवाब दाखिल करने के लिए चार सप्ताह का वक्त दिया है।

एनएचआरसी ने अपने बयान में कहा है कि यह पीड़ितों के मानवाधिकारों के उल्लंघन का गंभीर मामला है। राज्य सरकार से उम्मीद की जाती है कि वह आयोग को पीड़ित परिवारों के पुनर्वास और राहत को दी गई मदद के साथ ही अस्पतालों में घायलों के इलाज की स्थिति की जानकारी भी देगी। 
 

पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने सोमवार को कहा कि वह पूरी जिंदगी उन परिवारों का खर्च उठाएंगे, जिन परिवारों में अब कोई भी कमाने वाला नहीं बचा है। सिद्धू ने प्रेस कांफ्रेंस कर कहा, उन्होंने अपनी जिंदगी में एक वादा किया था कि वह अमृतसर से ही चुनाव लड़ेंगे और आज दूसरा वादा कर रहे हैं कि अनाथ हुए परिवारों का पूरी जिंदगी वह खर्चा उठाएंगे। 

आयोजक ने कहा, सभी मंजूरी ली थी 

हादसे के बाद से गायब कार्यक्रम के आयोजक सौरभ मदन मिट्ठू ने सोमवार को वीडियो जारी कर सफाई दी। उसने कहा कि दशहरा कार्यक्रम के लिए सभी जरूरी मंजूरियां ली गई थीं। भीड़ को 10 बार ट्रैक पर खड़ा नहीं होने के लिए सतर्क किया गया था। उसने कहा, मैं घटना से बेहद दुखी हूं और कुछ लोग मुझे बदनाम करने की कोशिश कर रहे हैं।

अमृतसर ट्रेन हादसे में आरोप प्रत्यारोप के बीच सोमवार को बिहार की एक अदालत में पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर सिद्धू के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई गई है। वहीं, राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) ने हादसे पर रेलवे और पंजाब सरकार को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है।

बिहार के मुजफ्फरपुर की सीजेएम कोर्ट में सामाजिक कार्यकर्ता तमन्ना हाशमी की ओर से दर्ज शिकायत में हादसे के लिए नवजोत कौर और दशहरा कार्यक्रम के आयोजकों को जिम्मेदार ठहराया गया है। हाशमी ने अदालत से नवजोत कौर और आयोजकों पर केस दर्ज करने की अपील की है। कोर्ट तीन नवंबर को शिकायत पर सुनवाई करेगा। इस दर्दनाक हादसे में बिहार के कई लोग मारे गए थे। 

इस बीच, एनएचआरसी ने स्वत: संज्ञान लेते हुए पंजाब के मुख्य सचिव और रेलवे बोर्ड के चेयरमैन को नोटिस जारी कर तलब किया है। एनएचआरसी ने जवाब दाखिल करने के लिए चार सप्ताह का वक्त दिया है।

एनएचआरसी ने अपने बयान में कहा है कि यह पीड़ितों के मानवाधिकारों के उल्लंघन का गंभीर मामला है। राज्य सरकार से उम्मीद की जाती है कि वह आयोग को पीड़ित परिवारों के पुनर्वास और राहत को दी गई मदद के साथ ही अस्पतालों में घायलों के इलाज की स्थिति की जानकारी भी देगी। 
 

विज्ञापन


आगे पढ़ें

अनाथ परिवारों का खर्च उठाएंगे सिद्धू 

Comments